लिंग : परिभाषा, भेद एवं उदाहरण | gender | Ling in Hindi Grammar

लिंग की परिभाषा - Ling in Hindi Grammar लिंग की परिभाषा - संज्ञा के जिस रूप से किसी वस्तु , व्यक्ति या प्राणी के स्त्री या पुरुष होने का बोध होता है। उसे लिंग कहते है। लिंग का अर्थ - (gender) लिंग का अर्थ - लिंग शब्द का अर्थ है - निशान ।अर्थात , जिस चिन्ह से यह साबित हो…

Continue Readingलिंग : परिभाषा, भेद एवं उदाहरण | gender | Ling in Hindi Grammar

प्रत्यय – परिभाषा, प्रकार,अर्थ व उदाहरण | Pratyay in Hindi

प्रत्यय की परिभाषा - Pratyay in Hindi प्रत्यय की परिभाषा -प्रत्यय वह शब्दांश हैं जो किसी शब्द के अन्त में जुड़कर उसके अर्थ में कुछपरिवर्तन कर देते हैं। य उसके अर्थ को पूरी तरह बदल देते है।जैसे - हिरन + ई = हिरनी। प्रत्यय का अर्थ प्रत्यय का अर्थ - प्रत्यय दो शब्दों से मिलकर बना है - प्रति +…

Continue Readingप्रत्यय – परिभाषा, प्रकार,अर्थ व उदाहरण | Pratyay in Hindi

Chhand in Hindi | छंद की परिभाषा, भेद, प्रकारऔर उदाहरण – (हिन्दी व्याकरण)

छंद की परिभाषा जिन रचनाओं में मात्रा तथा वर्ण का उत्तम संयोजन, व कलात्मक गति व लय विद्द्मान होता है, उसे ‘छन्द’ कहते हैं। छन्द के प्रकार छन्द चार प्रकार के होते हैं।-1 - मात्रिक छन्द।2 - वर्णिक छन्द।3 - उभय छन्द।4 - मुक्तक छन्द । मात्रिक, वर्णिक और उभय छन्दों के तीन-तीन उपभेद हैं (मुक्तक छन्द का कोई उपभेद…

Continue ReadingChhand in Hindi | छंद की परिभाषा, भेद, प्रकारऔर उदाहरण – (हिन्दी व्याकरण)

हिन्दी लोकोक्तियाँ | कहावतें | proverbs in hindi

हिन्दी लोकोक्तियाँ | कहावतें हिन्दी लोकोक्तियाँ , कहावतें | proverbs अर्थजो बोले सो कुंडा खोले यदि कोई मनुष्य कोई काम करने का उपाय बतावे और उसी को वह काम करने का भार सौपाजाये।जेठ के भरोसे पेट जब कोई मनुष्य बहुत निर्धन होता है और उसकी स्त्री का पालन-पोषण उसका बड़ा भाई (स्त्री का जेठ) करता है तब कहते हैं।जीये न…

Continue Readingहिन्दी लोकोक्तियाँ | कहावतें | proverbs in hindi

Vilom Shabd in Hindi | विलोम-शब्द की परिभाषा व उदाहरण | Opposite Words

विलोम-शब्द की परिभाषा - Opposite Words in Hindi विलोम-शब्द - विलोम का अर्थ है - विरुद्ध ,उल्टा या विपरीत अर्थात जो शब्द उल्टा या विपरीत अर्थ का बोध कराये उन्हें विलोम शब्द कहते है यह विलोम शब्द किसी भी शब्द केअर्थ को अधिक स्पस्ट करने के लिए प्रयुक्त होते है। उदाहरण सम्मान का विलोम शब्दअपमानउधार का विलोम शब्दनगदसकल का विलोम…

Continue ReadingVilom Shabd in Hindi | विलोम-शब्द की परिभाषा व उदाहरण | Opposite Words

उपसर्ग की परिभाषा, उदाहरण तथा भेद | upsarg Examples | (Prefixes)

उपसर्ग की परिभाषा - Definition of prefix परिभाषा - उपसर्ग (upsarg) वह शब्दांश हैं, जो किसी शब्द के पहले जुड़कर उसके अर्थ को बदल देते हैं जैसे - जय शब्द का अर्थ जीत होता है लेकिन जय शब्द के पहले परा उपसर्ग जोड़ देने पर एक नया शब्द बन जाता है - पराजय जिसका अर्थ है - हार यह पहले…

Continue Readingउपसर्ग की परिभाषा, उदाहरण तथा भेद | upsarg Examples | (Prefixes)

किशनगढ़ शैली | किशनगढ़ शैली के चित्र व विशेषताएं | बनी – ठनी

किशनगढ़ शैली किशनगढ़ शैली का परिचय - राजस्थानी चित्रकला में ' किशनगढ़ शैली ' का अपना एक विशेष स्थान माना जाता है इसे मारवाड़ शैली की प्रमुख चित्रशैली भी कहा जाता है विद्वान ' एरिक डिकिन्सन और डॉ . फैयाज़ अली ने ही किशनगढ़ चित्रशैली को प्रकाश में लाया तथा स्वर्गीय एरिक डिकिन्सन अलीगढ़ विश्वविद्यालय और राजकीय कॉलेज लाहौर में…

Continue Readingकिशनगढ़ शैली | किशनगढ़ शैली के चित्र व विशेषताएं | बनी – ठनी

Tatsam And Tadbhav Shabd | तत्सम और तद्भव की परिभाषा, भेद उदाहरण तथा पहचानने के नियम

तत्सम और तद्भव की परिभाषा - Tatsam And Tadbhav तत्सम और तद्भव की परिभाषा तत्सम शब्द की परिभाषा तत्सम शब्द की परिभाषा- "तत्सम शब्द" संस्कृत भाषा के दो शब्दों, तत् और सम् से मिलकर बनता है तत् का अर्थ – उसके तथा सम् का अर्थ – समान ,होता है। अर्थात तद्भव शब्द की परिभाषा संस्कृत भाषा में प्रयोग होने वाले…

Continue ReadingTatsam And Tadbhav Shabd | तत्सम और तद्भव की परिभाषा, भेद उदाहरण तथा पहचानने के नियम

मेवाड़ शैली | उदयपुर, देवगढ़, नाथद्वारा | 3 उपशैली | चित्रकला राजस्थान | mewar shaili

मेवाड़ शैली | mewar shaili मेवाड़ शैली - अरावली पर्वत श्रृंखलाओं के मध्य स्थित मेवाड़ भूखण्ड जो सन् 1948 ई . में राजस्थान प्रदेश में विलय हुआ , आज चित्तौड़ , उदयपुर एवं भीलवाड़ा जिलों में वर्गीकृत है । मेवाड़ शैली को आरम्भिक राजस्थानी चित्रकला के प्रथम दर्शन का स्रोत कहा जाता है । मेवाड़ में मेव अथवा मेर जाति…

Continue Readingमेवाड़ शैली | उदयपुर, देवगढ़, नाथद्वारा | 3 उपशैली | चित्रकला राजस्थान | mewar shaili

काल किसे कहते है | 3 काल की परिभाषा, भेद व उदाहरण | tense ki paribhsa

काल किसे कहते है काल का तात्पर्य निम्नवत है। - काल किसे कहते हैं। - साधारण तौर पर काल का मतलब समय होता है तथा समय चक्र की इसी अवधि को कालांतर या काल चक्र कहते है। काल काल की परिभाषा - काल की परिभाषा निम्न प्रकार से है। - काल की परिभाषा - क्रिया के उस परिवर्तन को काल…

Continue Readingकाल किसे कहते है | 3 काल की परिभाषा, भेद व उदाहरण | tense ki paribhsa